बता दे मुझे

मैं कौन हूँ मै जानु ना
गर तू जाने तो बता दे मुझे,
किन राहों में चलते जाना है
कोई मंजिल का तो पता दे मुझे..

मैं खोई हु बस तेरी आश में
एक अनजानी अनकही सी प्यास में,
तू मुजमे समाया है कुछ इस कदर
अब मेरा ही तू पता दे मुझे …

कसक है ये कैसी ये कैसी तड़प है
इन सांसो में बस तेरी महक है
कहाँ है छुपा तू ये जाने ना कोई
तेरा दर कहाँ है बता दे मुझे…

આ રચનાને શેર કરો..
This entry was posted in हिन्दी, કાવ્ય. Bookmark the permalink.

10 Responses to बता दे मुझे

  1. Anjali says:

    Wonderful Shabnam.. its really really amazing!

    मैं खोई हु बस तेरी आश में
    एक अनजानी अनकही सी प्यास में,
    तू मुजमे समाया है कुछ इस कदर
    अब मेरा ही तू पता दे मुझे …!!

    wow!

  2. Anjali says:

    But I cannot use Like button..
    Hello?

  3. Hema says:

    I too cannot use like bottom…
    something is problem thr…

  4. Hema says:

    Its superb… i like it very much.

  5. Wow dear.. superbbbbbb.. Like it.. 🙂

    Really amazing..

  6. shabnam khoja says:

    Thank u sooooooo much…anjali…hemaji n apexa….

  7. નિરાલી says:

    Very nice one dear.. Awesome.. Loved it.. Keep it up.. 🙂

  8. shabnam khoja says:

    Thanx dear…N!R@L!

  9. Nice! Like इन सांसो में बस तेरी महक है ,कहाँ है छुपा तू ये जाने ना कोई,
    तेरा दर कहाँ है बता दे मुझे… good! (dedicated to God !)

  10. ચેતના ભટ્ટ says:

    Very nice..

Leave a Reply